हमारा लोगो अपनी वेबसाइट या वेबलॉग में रखने के लिए निम्न लिखित कोड कापी करें और अपनी वेबसाइट या वेबलॉग में रखें
419023

اللَّهُمَّ کُنْ لِوَلِیِّکَ الحُجَةِ بنِ الحَسَن، صَلَواتُکَ علَیهِ و عَلی آبائِهِ، فِی هَذِهِ السَّاعَةِ وَ فِی کُلِّ سَاعَةٍ، وَلِیّاً وَ حَافِظاً وَ قَائِداً وَ نَاصِراً وَ دَلِیلًا وَ عَیْناً، حَتَّى تُسْکِنَهُ أَرْضَکَ طَوْعاً وَ تُمَتعَهُ فِیهَا طَوِیلا
किताबे ’’ सहीफ़ये मेहदीया ‘‘ इमाम-ए-ज़माना (अज्जलल्लाहु फरजहुश्शरीफ) को पहचानने के लिए एक बेहतरीन किताब
हज़रते अब्बास अलैहिस्सलाम का चमत्कार
हज़रते रोक़य्या (सलामुल्लाहे अलैहा)
हज़रत बक़ियतुल्लाह अरवाहोना फ़िदाह से तवस्सुल
हज़रत उम्मुल बनीन सलामुल्लाहे अलैहा से
हज़रत इमाम-ए-ज़माना अज्जलल्लाहु
मेरा दिल ख़ून है
बरकत वाला पैसा ।
प्रतीक्षा; और संसार की आशा की ओर
पहचान के रास्ते
किताबे सहीफ़ये मेहदिया का परिचय
किताबे “ सहीफये मेहदिया ” इमाम-ए-ज़माना
इमाम-ए-ज़माना अज्जलल्लाहु फरजहुश्शरीफ के ज़हूर की प्रार्थना
किताबे ’’ सहीफ़ये मेहदीया ‘‘ इमाम-ए-ज़माना
ज़ाकिरों (प्रवचकों) का नाम हज़रत फ़ातिमा ज़हरा(स0अ0) की सूची में
इस्लामी कैलेन्डर्
अव्वल ज़िल हिज्जा 1442
1 ज़िल हिज्जा
1-जनाबे इब्राहीम अ0 का जन्मदिन। 2-हज़रत अली अ0 और जनाबे फ़ातिमा ज़हरा स0 की शादी। ( 2 ही0 क़0 )
3 ज़िल हिज्जा
1-जनाबे रसूले ख़ुदा स0 अपने आख़री हज के लिए मक्का पहुँचे। ( 10 ही0 क़0 ) 2-पैग़म्बरे अकरम स0 ने हज़रत अली अ0 को सूरए बराअत की तबलीग़ के लिए हज के ज़माने में मक्के भेजा। ( 9 ही0 क़0 )
5 ज़िल हिज्जा
1-इमाम मोहम्मद तक़ी अ0 शहादत। एक रेवायत के आधार पर। ( 220 ही0 क़0 )
6 ज़िल हिज्जा
1-इमाम मूसा काज़िम अ0 को बसरा के क़ैद ख़ाने में भेजा गया। ( 179 ही0 क़0 )
7 ज़िल हिज्जा
1-इमाम मोहम्मद बाक़िर अ0 की शहादत। ( 114ही0 क़0 )
8 ज़िल हिज्जा
1-तरवीया का दिन और हज का आरम्भ। 2-इमाम हुसैन अ0 अपने क़ाफ़िले को ले कर मक्का से कूफ़ा की तरफ़ निकले। ( 60 ही0 क़0 ) 3-जनाबे इब्राहीम अ0 और जनाबे इस्माईल अ0 पहला हज। 4-हज के आमाल की शुरूआत। ( 10 ही0 क़0 ) 5-इमाम मूसा काज़िम अ0 को बसरा के क़ैद ख़ाने में भेजा गया। ( 179 ही0 क़0 ) 6-हुसैन इब्ने अली इब्ने हसन की शहादत और फ़ख़ की घटना। ( 169 ही0 क़0 )
9 ज़िल हिज्जा
1-कूफ़े में जनाबे मुस्लिम इब्ने अक़ील की शहादत। ( 60 ही0 क़0 ) 2-अरफ़े का दिन। 3-मस्जिने नबवी में सब के दरवाज़े को बंद करने की घटना और हज़रत अली अ0 का दरवाज़ा सिर्फ़ खुला रखा गया। ( 2 ही0 क़0 )
10 ज़िल हिज्जा
1-बक़रा ईद।
14 ज़िल हिज्जा
1-पैग़म्बरे अकरम स0 के द्वारा चाँद के दो टुक्ड़े करने की घटना। (हिजरत से पाँच वर्ष पहले।)
15 ज़िल हिज्जा
1-इमाम अली नक़ी अ0 का जन्मदिन। ( 212 ही0 क़0 )
18 ज़िल हिज्जा
1-ईदे ग़दीर। ( 18 ही0 क़0 ) 2-उस्मान मारा गया। ( 34 ही0 क़0 ) 3-हज़रत अली अ0 की बैयत के लिए लोग जमा हुए। ( 35 ही0 क़0 ) 4-मोआविया ने ख़ुदा और रसूल की मुख़ालिफ़त की।
22 ज़िल हिज्जा
1-जनाबे मीसमे तम्मार की शहादत। ( 60 ही0 क़0 )
24 ज़िल हिज्जा
1-पैग़म्बरे अकरम ने नजरान के ईसाइयों से मुबाहिला किया। ( 9 ही0 क़0 ) 2-हज़रत अली अ0 ने मस्जिद में फ़क़ीर को अंगूठी अता की।
25 ज़िल हिज्जा
1-लोगों ने हज़रत अली अ0 की बैयत की। ( 53 ही0 क़0 ) 2-ये वो दिन था जब हज़रत अली अ0 उनकी पत्नी जनाबे फ़ातिमा ज़हरा स0 और उनके बेटों ने तीन दिन तक अपनी इफ़्तारी ग़रीबों, मोहताजों, और फ़क़ीरों को देदी और इन सब के सम्मान में क़ुर्आने मजीद का सूरए दहर उतरा।
27 ज़िल हिज्जा
1-इमाम जाफ़रे सादिक़ अ0 के बेटे का देहांत हुआ और क़ुम में दफ़न हुए। (किताबे मसाएल के मालिक अली इब्ने जाफ़र।) ( 210 ही0 क़0 )
29 ज़िल हिज्जा
1-मदीने के लोग इमाम हुसैन अ0 के ख़ून का बदला लेने के लिए उठ खड़े हुए जिनके सरदार अब्दुल्लाह इब्ने हन्ज़ला थे, और यज़ीद के सिपाहियों ने उन सब को क़त्ल कर दिया और यज़ीद की फ़ौज का सरदार मुस्लिम इब्ने अक़्बा था। ( 63 ही0 क़0 )
आज के साइट प्रयोगकर्ता : 44731
कल के साइट प्रयोगकर्ता : 66514
कुल ख़ोज : 60834299
कुल ख़ोज : 51021027